वेल्डर बना फर्जी RTO ऑफिसर, इंस्टाग्राम पर की MP की लड़की से दोस्ती, महाराष्ट्र ले जाकर किया रेप

हाइलाइट्स

हरदा के सिविल लाइन थाना इलाके का है मामला
आरोपी महाराष्ट्र के आकोला जिले का रहने वाला है
आरोपी ने अपनी डीपी में आरटीओ वाहन के साथ फोटो लगा रखी थी

हरदा. मध्यप्रदेश के हरदा जिले में फर्जी आरटीओ ऑफिसर (Fake RTO Officer) बनकर एक नाबालिग लड़की से रेप (Rape) करने का मामला सामने आया है. मामला सिविल लाइन थाना इलाके से जुड़ा है. सिविल लाइन थाना इलाके की रहने वाली पीड़िता से महाराष्ट्र के अकोला जिले के रहने वाले युवक अक्षय ने पहले इंस्टाग्राम पर दोस्ती की. फिर हरदा से बहलाकर फुसलाकर महाराष्ट्र ले जाकर उससे दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया. पुलिस ने सायबर सेल की मदद से आरोपी को तलाश कर वहां से गिरफ्तार कर लिया. बाद में हरदा लाकर उसे कोर्ट में पेश किया गया. आरोपी को जेल भिजवा दिया गया है.

सिविल लाइन पुलिस के अनुसार आरोपी युवक अक्षय बाकुड़े महाराष्ट्र के अकोला जिले के पिंपरी का रहने वाला है. उसने दो माह पहले हरदा निवासी नाबलिग से लड़की से सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म इंस्टाग्राम पर फर्जी आरटीओ ऑफिसर बनकर दोस्ती की थी. नंबर शेयर करने के बाद दोनों में बातें होने लगी. एक दिन अक्षय हरदा आया और नाबालिग बालिका को लेकर महराष्ट्र के आकोट पहुंचा. वहां उसने मकान किराये से लेकर पीड़िता के साथ रेप किया.

पुलिस को कॉल डिटेल से आरोपी का सुराग लगा
लड़की के लापता होने पर उसके परिजनों ने 23 दिसंबर को सिविल लाइन थाने में इसकी शिकायत की दी. उसके आधार पर पुलिस ने मामले की जांच शुरू की. पीड़िता के मोबाइल की कॉल डिटेल में एक नंबर महाराष्ट्र राज्य का निकला. पुलिस ने जब उस नंबर की छानबीन की तो वह आकोला जिले का निकाला. इस पर पुलिस ने वहां पहुंचकरआरोपी युवक को धरदबोचा. पुलिस ने युवक को कोर्ट में पेश कर जेल भिजवा दिया है.

आरोपी अपने मां के नाम की सिम का उपयोग करता था
इंस्टाग्राम पर लड़की से दोस्ती करने वाले अक्षय की कहानी फिल्म की तरह है. आरोपी ने अपने मोबाइल डीपी पर आरटीओ वाहन के साथ फोटो लगा रखी थी. इसी फोटो को दिखाकर उसने पीड़िता को आरटीओ ऑफिसर होने का विश्वास दिलाया. जबकि अक्षय वेल्डिंग का काम करता है. पुलिस ने बताया की आरोपी को ढूंढना आसान नहीं था. वह जिस नंबर से बात करता था वह सिम उसकी मां के नाम रजिस्टर्ड थी.

आरेपी लोकेशन बदल-बदलकर पुलिस को चकमा दे रहा था
पुलिस ने महाराष्ट्र पहुंचकर जांच-पड़ताल की तब सामने आया कि वह अपनी मां के नाम से जारी सिम उपयोग करता है. पुलिस नंबर लोकेशन आधार पर आकोट पहुंची. लेकिन आरोपी बार-बार लोकेशन चेंज कर पुलिस को चकमा दे रहा था. चार बार की कोशिश के बाद पुलिस उसकी लोकेशन ट्रैस करती हुए एक बड़े गैराज में पहुंची और उसे गिरफ्तार कर लिया.

Tags: Crime News, Harda news, Madhya pradesh news, Rape Case

#वलडर #बन #फरज #RTO #ऑफसर #इसटगरम #पर #क #क #लडक #स #दसत #महरषटर #ल #जकर #कय #रप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Language »