Christmas 2022 Lord Jesus Christ Born Story In Hindi | Christmas 2022: क्रिसमस पर जानें कैसे

Christmas 2022: 25 दिसंबर को ईसाई धर्म के संस्थापक प्रभू ईसा मसीह के जन्मदिन के रूप में क्रिसमस मनाया जाएगा. खुशी और उत्साह का इस पर्व में लोग घर और चर्च में क्रिसमस ट्री और सुंदर झांकियां सजाई जाती है. एक दूसरे को शुभकामनाएं देते हैं. केक और अन्य उपहार दिए जाते हैं. ईसा मसीह को परमात्मा का पुत्र कहा जाता है. आइए क्रिसमस के मौके पर जानते हैं कैसे हुआ ईसा मसीह के जन्म और उनसे जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण जानकारी.

ईसा मसीह के जन्म की कथा

पौराणिक कथा के अनुसार प्रभु यीशु का जन्म करीब 4-6 ई.पू में हुआ था. प्रभू यीशू की माता का नाम मरियम और पिता का नाम यूसुफ था. यूसुभ बढ़ई का काम करते थे. ऐसा कहा जाता है कि मरीयम को एक सपना आया था जिसमें उन्हें प्रभु के पुत्र यीशु को जन्म देने की भविष्यवाणी की गई थी. मरियम गर्भवती हुईं. गर्भवास्था के दौरान मरियम को बेथलहम की यात्रा करनी पड़ी. रात होने के कारण उन्होंने रूकने का फैसला किया, लेकिन कहीं कोई ठिकाना नहीं नहीं मिला एक गडरिए के यहां ही उसी के अगले दिन माता मरियम ने प्रभु यीशु को जन्म दिया.

यीशू को इस दिन क्रॉस पर चढ़ाया गया

News Reels

प्रभु यीशू के 13 वर्ष से 30 साल तक के जीवन के बारे में अधिक जानकारी उपलब्ध नहीं है, न ही बाइबल में उनके इस पीरियड का जिक्र है. रोमन गवर्नर पिलातुस को हमेशा यहूदी क्रान्ति का डर रहता था, इसलिये कट्टरपन्थियों को प्रसन्न करने के लिए पिलातुस ने ईसा को मृत्यु दंड की सजा दी गई. जिस दिन यीशु को क्रॉस पर चढ़ाया गया था, उस दिन फ्राइडे था. कहते हैं कि मृत्यु के कुछ दिन बाद वह पुन: जीवित हो उठे, इस दिन को ईस्टर कहा जाता है.

Christmas 2022: ’जिंगल बेल’ सॉन्ग का क्रिसमस से नहीं है कोई कनेक्शन, जानें इसकी रोचक बातें

Disclaimer:यहां मुहैया सूचना सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. यहां यह बताना जरूरी है कि ABPLive.com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें.

#Christmas #Lord #Jesus #Christ #Born #Story #Hindi #Christmas #करसमस #पर #जन #कस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Language »